स्वामी शिवानन्द के सुविचार

किसी ने आपको चोट पहुंचाई है तो उसे बच्चे की तरह भूल जाए। इसे अपने दिल में ना रखें। यह केवल नफरत पैदा करता है।

Swami Sivananda