“जिंदगी छोटी है। समय क्षणभंगुर है। स्वयं को जाने। हृदय की पवित्रता ईश्वर का प्रवेश द्वार है। महत्वाकांक्षा त्याग और ध्यान। और अच्छा बनो; अच्छा करो। दयालु रहों; उदार बनो। अपने आप से पूछो कि आप कौन हो।”

“ध्यान केंद्रित करने की मानसिक क्षमता सभी के लिए अंदर है; यह असाधारण या रहस्यमय नहीं है। ध्यान कुछ ऐसा नहीं है जो कोई योगी आपको सिखाएं; आपके पास पहले से ही विचारों को बंद करने की क्षमता है।”

“प्रेम को कोई तोहफे की उम्मीद नही होती है। प्रेम को कोई डर नहीं होता। प्रेम केवल देता है – माँग नहीं करता। प्रेम के लिये कोई बुराई नहीं; कोई मकसद नहीं। प्यार करना बांटना और सेवा करना है।”