बाबा साहेब के विचार

मनुष्य एवं उसके धर्म को समाज के द्वारा नैतिकता के आधार पर चयन करना चाहिये। अगर धर्म को ही मनुष्य के लिए सब कुछ मान लिया जायेगा, तो किन्हीं और मानकों का कोई मूल्य ही नहीं रह जायेगा।

B. R. Ambedkar