एपीजे अब्दुल कलाम जी के सुविचार

में कोई महान पुरुष नहीं हूँ, लेकिन में अपना हाथ किसी जरुरत मंद व्यक्ति की और बढ़ा सकता हूँ| सुन्दरता चहरे में नहीं दिल में होती है

APJ Abdul Kalam