“विचार, एक व्यक्ति, संस्था और एक देश को प्रगति की और ले जाता है, विचार न करना एक रूकावट है| ज्ञान, विना कोशिश के व्यर्थ और बेतुका है| आपका ज्ञान और कोशिश विपत्ति को समर्धि में बदल देती है|”

“जिंदगी छोटी है। समय क्षणभंगुर है। स्वयं को जाने। हृदय की पवित्रता ईश्वर का प्रवेश द्वार है। महत्वाकांक्षा त्याग और ध्यान। और अच्छा बनो; अच्छा करो। दयालु रहों; उदार बनो। अपने आप से पूछो कि आप कौन हो।”

“ध्यान केंद्रित करने की मानसिक क्षमता सभी के लिए अंदर है; यह असाधारण या रहस्यमय नहीं है। ध्यान कुछ ऐसा नहीं है जो कोई योगी आपको सिखाएं; आपके पास पहले से ही विचारों को बंद करने की क्षमता है।”

“वर्तमान छात्रों की शिक्षा ज्यादातर किताबी है। छात्रों का उद्देश्य उपयोगी व्यावहारिक ज्ञान की वास्तविक शिक्षा से अधिक डिग्री प्राप्त करना है। छात्र बिना किसी निश्चित योजना या उद्देश्य के अपने कॉलेज के करियर से गुजरते हैं।”

“प्रेम को कोई तोहफे की उम्मीद नही होती है। प्रेम को कोई डर नहीं होता। प्रेम केवल देता है – माँग नहीं करता। प्रेम के लिये कोई बुराई नहीं; कोई मकसद नहीं। प्यार करना बांटना और सेवा करना है।”

“बुद्ध ने अपने समस्त भौतिक सुखों का त्याग किया क्योंकि वे संपूर्ण विश्व के साथ यह खुशी बांटना चाहते थे जो मात्र सत्य की खोज में कष्ट भोगने तथा बलिदान देने वालों को ही प्राप्त होती है।”